logo
;
आयुर्वेद औषधालय असुविधा के बिच हो रही संचालित

आयुर्वेद औषधालय असुविधा के बिच हो रही संचालित

Published: 03 Oct, 2019

 शौचालय एवं पेयजल के लिऐ भटक  रहे मरीज

छत की पलास्टर भी गिरने के कगार पर

रिपोर्टर -प्रह्लाद साहू 

सहसपुर लोहारा - ब्लाक के ग्राम रणवीरपुर  लोहरा ब्लाक के अन्तर गत आयुर्वेद ग्राम की मान्यता रखता है ,जिसके अंतर्गत और्वेदिक शासकीय औषधालय संचालित हो रही है । जहां देशी नुस्खे और्वेदिक पद्धति से ईलाज  कराने आने वालो मरीजो से भरा रहता है ,लेकिन यहाँ  सिकायत ईलाज से नहीं यहाँ के  हॉस्पिटल में फैली अव्यवस्था से है जिसके चलते मरीजो को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है  

पिछले 11 सालों से ना तो शौचालय बन पाया और ना ही साफ़ पेयजल कि वेवस्था हो पाई जिसके चलते दुर दराज से आये मरिजों को असुविधा का सामना करना पडता है सबसे जादा तकलिफ महिला मरीजो को हो रही है कभी शौचालय लगने पर औषधालय से दुर 20 मिटर कि दुरी या फिर 1 किलोमिटर दुर जाना पढता है जिस कारण लज्जित भी होना पढता है । आयुर्वेद औषधालय तक मे बाथरूम. शौचालय का भी वेवस्था नहीं जहां रोज हजारों मरिज आते है ,इससे साफ जाहिर होता है स्वाक्ष और निर्मल ग्राम केवल कागजों तक सिमित रह गया है। औषधालय मे पुराने साडी से बनाया बाथरूम

रणवीरपुर आयुर्वेद औषधालय मे एक शर्मनाक चैंकाने वाली बात देखने को मिला लगातार मरिजो द्धारा असुविधा की खभर मिलने के बाद यमराज संवाददाता प्रहलाद ने औषधालय जाकर मरिज प्रभा साहू.निता तिवारी.उर्मिला देवी.यमुना.भागवत एवं डां. निर्मला पटेल से चर्चा किया एवं औषधालय का जायजा लिया तो उक्त बाते सामने आई ना तो वहां पर साफ़ पेय जल कि वेवस्था है और ना ही बाथरूम शौंचालय की। और तो और भवन का पलास्ट भी गिरने लगा है जिस कारण स्टाप के लोग भी दहशत मे है।

भरभराकर गिर रही छत की प्लास्टर

रणवीरपुर मे संचालित हो रही दो रूप की आयुर्वेद औषधालय पुराना एवं जर्जर होने के कारण छत का प्लास्टर भरभराकर गिरने लगा है जिस कारण मरिज सहिंत पुरा स्टाप डर के छांय मे जान जोखिम मे डालकर मरिजों का ईलाज कर रहे है भवन को देखने से ऐसा प्रतित होता है जैसे कभी भी गिर सकती है अगर  भवन गिरा तो बहोत बडी  घटना घट सकती है। इसलिऐ जल्द से जल्द नये भवन का निर्माण कराना अति आवश्कता है।

औषधालय मे स्टाफ की कमी

रणवीरपुर आयुर्वेद औषधालय मे पर्याप्त स्टाफ  भी नहीं है दो  लोगो के भरोसे चल रहा पुरा औषधालय जिसे भी सिंघनगढ.जुनवानी.सिंघपनुरी.सुरजपुर.रणवीरपुर पांच जगह का प्रभार सौंपा गया है ।

आयुर्वेद अधिकारी डॉ - निर्मला पटेल

मै जब से आई हु तब से असुविधा के बिच चल रहा है औषधालय ना तो यहां मरिजो के लिऐ शुलभ शौंचालय है और ना ही शु़द्ध पेय जल कि वेवस्था हो पाया है पुराने कपडे से घेरा कर बाथरूम बनावाऐ है भवन भी गिरने लगता है अब तो इस भवन मे बैठने से भी डर लगने लगा है।


YOU MIGHT ALSO LIKE

दंतेवाडा चुनाव में मोदी ,अमित शाह की जोड़ी प्रचार में

दंतेवाडा चुनाव में मोदी ,अमित शाह की जोड़ी प्रचार में

दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षा में बेहतर परिणाम के लिए मिशन 90 शुरू

दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षा में बेहतर परिणाम के लिए मिशन 90 शुरू

लॉक डाउन का अफवाह,हुई जमा खोरों की चांदी

लॉक डाउन का अफवाह,हुई जमा खोरों की चांदी

Recent News

Advertisement

© Copyright YamrajNews 2019. All Rights Reserved.