logo
;
कालाबाजारी:सहकारी समिति से अपंजीकृत छोटे किसानों को महंगी मिल रही खाद

कालाबाजारी:सहकारी समिति से अपंजीकृत छोटे किसानों को महंगी मिल रही खाद

Published: 11 Aug, 2020

शासन की ओर से किसानों के लिए कई योजनाएं चल रही हैं। लेकिन खेती के समय में किसान हर वर्ष घटिया बीज एवं महंगी खाद की मार झेलते आ रहे है। शासन की ओर से पंजीकृत किसानों को सहकारी समितियों से यूरिया खाद की सप्लाई 266 रुपए बोरा के हिसाब से दिया जा रहा है, जिसे लेकर किसान सस्ती खेती का लाभ उठाते है। लेकिन अपंजीकृत किसान बाजार में बिकने वाले दोगुने रेट के खाद की खरीदी कर खुद को ठगा महसूस करते हैं। पिछले दिनों सांसद गोमती साय ने किसानों की इस समस्या पर आवाज उठाई थी। उन्होंने बाजार में महंगे दर पर यूरिया खाद बेचने वालों को चेतावनी भी दी थी। इसके बाद भी कुछ व्यापारियों द्वारा किसानों को महंगे दर पर यूरिया खाद की बिक्री की जा रही है। हालांकि व्यापारियों का एक वर्ग कालाबाजारी की बातों का खंडन कर रहा है। लेकिन हकीकत इसके विपरीत हैं। कुछ व्यापारियों की बात करें तो ये कृषि विभाग के छापामार अधिकारियों के साथ लुका छिपी का खेल खेल रहे है, ये अपनी बंद दुकानों की आड़ में अपने गोदामों से किसानों को महंगे दर की खाद बेच रहे हैं। कृषि विभाग के अधिकारी शिकायत वाले स्थान पर जाकर जांच के नाम पर अपनी खानापूर्ति कर रहे है।


""

छोटे किसानों से कमा रहे दोहरा मुनाफा
लघु किसान सरकारी कामों में आने वाली प्रक्रिया की वजह से अपना पंजीयन नहीं करा पाते। इस बात का उन्हें खाद एवं बीज की खरीदी के समय नुकसान उठाना पड़ता है। खाद व्यापारियों द्वारा किसानों की इस कमी का डबल मुनाफा कमाया जाता है। किसानों की शिकायत के अनुसार सहकारी समिति में 266 रुपए यूरिया खाद का दाम निर्धारित रहने के बाद कुछ व्यवसायी चोरी छिपे यूरिया खाद की बिक्री 450 से लेकर 500 रुपए तक कर रखे हैं। जिसे किसान मजबूरीवश खरीदकर खेती किसानी का काम निपटाने मे लगे हुए हैं।


YOU MIGHT ALSO LIKE

जिला मुख्यालय में जगह जगह विराजे गणपति, भक्तिमय हुआ मुख्यालय

जिला मुख्यालय में जगह जगह विराजे गणपति, भक्तिमय हुआ मुख्यालय

आवारा मवेशियों ने किसानों की फसल कर रही बरबाद

आवारा मवेशियों ने किसानों की फसल कर रही बरबाद

विधायक छाबड़ा ने 200 लोगो को राशनकार्ड किया वितरण

विधायक छाबड़ा ने 200 लोगो को राशनकार्ड किया वितरण

Recent News

Advertisement

© Copyright YamrajNews 2019. All Rights Reserved.