logo
;
गौठान बनने से अब सड़को पर मवेशियों का विचरण हुआ कम

गौठान बनने से अब सड़को पर मवेशियों का विचरण हुआ कम

Published: 12 Sep, 2019

          रिपोर्टर विजय कुमार डाहिरे-

बेमेतरा - छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाडी के क्रियान्वयन के लिए जिला प्रशानसन द्वारा मउ मुख्य मार्ग में बसे ग्राम नवागांव (खुड़मुड़ी) में गौठान निर्माण कार्य कराया गया । नवागांव में गौठान बनने से अब सड़को पर मवेशियों का विचरण कम हुआ है। इसके पहले मवेशियों का आवाजाही लगा रहता था और वाहन दुर्घटना की आशंक भी बनी रहती थी। गौठान में मवेशी एकत्र होने से फसलों का भी सुरक्षा हो रही है और किसान भी निश्चिंत है। पशु मालिक अब मवेशियों को ़गौठान में भेज रहे है।  यह गांव बेमेतरा चंदनूु मुख्य मार्ग पर बसा है। गत दिनों जिले की प्रभारी सचिव श्रीमती रीना बावा साहेब कंगाले एवं कलेक्टर श्रीमती शिखा राजपूत तिवारी ने जिले के प्रवास के दौरान नवागांव के गौठान का मुआयना किया था। ग्राम में गौठान निर्माण हेतु ग्राम पंचायत के सरपंच सुकदेव पात्रे, जनपद सदस्य पूनाराम, सचिव निरंजन डेहरे, रोजगार सहायक आगरदास घृतलहरे एवं ग्रामीण पंच रामजीवन गुप्ता, श्रीमती गंगा निषाद आदि की सक्रिय भूमिका रही। सर्वप्रथम ग्राम पंचायत में ग्रामीणों की बैठक नियमित आयोजित कर शासन की इस महत्वपूर्ण पहल की जानकारी ग्रामीणों को दी गई एवं शासन के इस पहल में अपनी भूमिका सुनिश्चित करने निवेदन किया गया। इसके लिए सुश्री पूजा प्रियंवदा तकनीकी सहायक, गुंजा यादव तकनीकी सहायक की भूमिका भी महत्वपूर्ण रही है । साथ ही दीपक ठाकुर मु.का.अ, अरविन्द कश्यप कार्य. अधि, एवं नूतन साहू अनु.वि.अ ग्रा.यां.से बेमेतरा के साथ विभिन्न विभागीय अमले की भूमिका भी महत्वपूर्ण रही।

            ज्ञातव्य हो कि ग्राम पंचायत नवागंाव (खुड़मुड़ी) जिला मुख्यालय से 9 किमी की दुरी पर स्थित होने के कारण पशुओं की पहुंच मार्ग में अधिक उपस्थिति से आवागमन में काफी असुविधा हो रही थी । दुर्घटना की संभावनाए भी बहुत थी । ऐसे में गौठान निर्माण कर गांव के सभी पशुओं को गौठान के भीतर ही सुनियोजित तरिके से रखे जाने से दुर्घटना की संभवना काफी हद तक कम हो गई है । गांव में गौठान निर्माण से ग्रामीण अत्यधिक प्रशन्नता महसुस कर रहे। गौठान का औपचारिक लोकार्पण छत्तीसगढ़ की प्रमुख त्यौहार हरियाली के दिन माननीय विधायक महोदय के कर कमलो से कराया गया ।  पशुपालन विभाग के सर्वे के अनुसार कुल 789 पशुधन है। जो कि गौठान स्थल पर उपलब्ध होते । यहां पशु चराई की परंपरागत प्रक्रिया के तहत ग्रामीण चरवाहों के माध्यम से पशुओं की चराई की जाती रही है। इसी क्रम में जिला प्रशासन द्वारा प्रचलित गौठान को आधुनिक रूप से विकसित करने की पहल की गई, जिसमें पशुओं के लिए समुचित पेयजल प्रबंधन के लिए पानी टंकी के निर्माण, छाया व्यवस्था हेतु शेड का निर्माण, पशुओं के लिए ग्रामीण जनो के सहयोग से चारे का संकलन, कोटना का निर्माण किचड आदि के बचाव के लिए भूमि विकास कार्य, सीपीटी निर्माण कार्य, पौधरोपण कार्य, नाडेब टेंक/वर्मी बेड का निर्माण, आदि का निर्माण कराया गया है । साथ ही साथ ग्राम पंचायत में लगभग 10 एकड़ भूमि में पशुओं लिए चारागाह का विकास ग्राम पंचायत द्वारा कराया गया है ।

ग्रामीणों द्वारा चारे के दान के साथ-साथ मवेशियों के उचित प्रबंधन, देखरेख के लिए ग्राम स्तर पर गौठान प्रबंधन समिति का चयन किया गया है जिनके द्वारा गौठान का संचालन प्रारंभ कर दिया गया है। गौठान के संबंध में समिति द्वारा नियमित बैठक आयोजित कर कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जिसमें पशु अवशेषों का वैज्ञानिक तरिके से प्रबंधन कर गोबर से आधुनिक खाद तैयार करने, गौ-मूत्र से किटनाशक तैयार करने एवं गौठान स्थल पर विभिन्न प्रकार के आर्थिक गतिविधि संचालित करने हेतु प्रस्ताव तैयार किया गया है। शासन के इस कदम के लिए ग्रामिणजन काफी खुश हैं एवं शासन के धन्यवाद ज्ञापित करते है ।

-------------00000---------------


YOU MIGHT ALSO LIKE

शिक्षको की कमी से परेशान छात्रों ने स्कूल भवन में जड़ा ताला

शिक्षको की कमी से परेशान छात्रों ने स्कूल भवन में जड़ा ताला

घोटिया रोड में ट्रैफिक की वजह से लोग परेशान

घोटिया रोड में ट्रैफिक की वजह से लोग परेशान

अशोका पब्लिक स्कूल में धूम धाम से मनाया गया हरेली(हरयाली)त्यौहार

अशोका पब्लिक स्कूल में धूम धाम से मनाया गया हरेली(हरयाली)त्यौहार

Recent News

Advertisement

© Copyright YamrajNews 2019. All Rights Reserved.