logo
;
नशामुक्ति, भिक्षा वृत्ति एवं बाल श्रम उन्मूलन अभियान

नशामुक्ति, भिक्षा वृत्ति एवं बाल श्रम उन्मूलन अभियान

Published: 13 Sep, 2019


       जिला कलेक्टर महोदय श्री अवनीश शरण के निर्देशानुसार जिला प्रशासन द्वारा जिला बाल संरक्षण समिति महिला एवं बाल विकास विभाग, पुलिस विभाग, श्रम विभाग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग, आबकारी विभाग, महिला सेल पुलिस एवं चाईल्ड लाईन की टीम द्वारा जिले के विभिन्न चिन्हांकित स्थालों का सघन भ्रमण कर नशे एवं भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चे बाल श्रमिक एवं अपशिष्ट पदार्थ संग्राहक बच्चों को सामाज के मुख्य धारा से जोड़ने अभियान चलाया जा रहा है। नशावृत्ति भिक्षावृति रोकथाम दल द्वारा जिले में सरोदा बांध एवं भोरमदेव में चिन्हांकित स्थलों के साथ-साथ सायकल स्टोर जनरल स्टोर्स हॉटल ढाबों एवं अपशिष्ट पदार्थ संग्राहक आदि दुकानों का औचक निरीक्षण किया गया। 

         निरीक्षण के दौरान नशावृत्ति, भिक्षावृति, बालश्रम एवं शाला त्यागी बालको एवं उनके अभिभावको के बच्चों को शाला भर्ती कराने हेतु टीम द्वारा समझाइस दिया गया तथा बच्चों के अधिकारों एवं संरक्षण के विभिन्न अधिनियमों नियमों की जानकारी देते हुए बच्चों को स्कूल जाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। बालको को समाज के मुख्यधारा से जोड़ने हेतु चिन्हाकित बच्चो को बाल कल्याण समिति में प्रस्तुत कर बच्चों एवं उनके पालको का काउंसलिंग कराया जा रहा है। जिससे बच्चो का उचित देखरेख एवं संरक्षण किया जा सके साथ ही बच्चो एवं उनके अभिभावको को भिक्षावृत्ति, बालश्रम एवं नशे में लिप्त होने के शारीरिक एवं मानसिक रूप से होने वाले हानि के बारे मे भी समझाया गया एवं बच्चो से भिक्षावृत्ति, बाल मजदूरी कराना कानूनन अपराध है। बच्चो से भिक्षा मंगवाना, बाल मजदूरी न कराने के समझाइस देते हुए बच्चो को शिक्षा हेतु शाला भेजने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। किसी भी व्यक्ति या पालक द्वारा बच्चों से भीख मंगवाते पाये जाने पर किशोर न्याय (बालको की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 के धारा 75 एवं 76 के तहत तथा किसी व्यक्ति या दुकानदार द्वारा बच्चो को नशीली दवाई या नशा युक्त सामाग्री उपलब्ध कराते पाये जाने पर धारा 77 एवं 78 के तहत कडी कार्यवाही की जावेगी जिसमे 7 वर्ष तक की सजा तथा 1 लाख का दण्ड से शासित किया जा सकता है। जिला कार्यक्रम अधिकारी अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा लोगो से अपील कर किसी भी बच्चे को नशीले पदार्थो का सेवन करते हुए या किसी के द्वारा उनको देते हुए, भिक्षावृत्ति करते हुये या बालश्रम मे लिप्त बालक पाये जाने पर तत्काल निःशुल्क नंबर 1098 मे सूचना दिये जाने हेतु कहा गया है।

 


YOU MIGHT ALSO LIKE

केंद्रीय विद्यालय कवर्धा में विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

केंद्रीय विद्यालय कवर्धा में विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन

लगातार हो रही घटनाओं से सबक नहीं,लापरवाह बनी हुई है विद्युत  विभाग।

लगातार हो रही घटनाओं से सबक नहीं,लापरवाह बनी हुई है विद्युत विभाग।

भोपाल में बना डिजिटल मीडिया प्रेस क्लब

भोपाल में बना डिजिटल मीडिया प्रेस क्लब

Recent News

Advertisement

© Copyright YamrajNews 2019. All Rights Reserved.