logo
;
चेन्नई से लापता 20 साल बाद जब अमेरिका में मिला

चेन्नई से लापता 20 साल बाद जब अमेरिका में मिला

Published: 14 Sep, 2019

साभार बीबीसी news -

अविनाश के पिता नागेश्वर राव उस पल को याद करते हुए ये बात बताते हैंण् 18 फ़रवरी 1999 को उनके डेढ़ साल के बेटे का अपहरण हो गया था

सब  लोगों ने उसे बहुत खोजा लेकिन अपने बेटे को हम तलाश नहीं पाए

तमिलनाडु में चेन्नई के पुलियाथोप इलाक़े में नागेश्वर राव और सिवागामी रहते हैंण् सुभाष उनका सबसे छोटा बेटा था

नागेश्वर राव कहते हैं  हम ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई बेटे को तलाशने के लिए हर संभव कोशिश की बेटे को वापस पाने के लिए हमने क़ानूनी विकल्प भी देखे और मंदिरों के चक्कर भी लगाए

लेकिन पुलिस की जाँच बहुत धीमी रफ़्तार में आगे बढ़ रही थी इसलिए नागेश्वर राव के वकील ने साल 2006 में हाईकोर्ट में हैबियस कॉर्पस ;बंदी प्रत्यक्षीकरणद्ध की याचिका दायर की

इस बीच सीबीआई भी ग़ायब बच्चों पर आपनी जाँच कर रही थी और उसकी नज़र मलेशियन सोशल सर्विस नाम के एक फ़र्म पर थीण् उसने कुछ बच्चों के बारे में जानकारियां जुटाईं जिन्हें अपहृत कर गोद देने के लिए भेज दिया गया था

साल 2009 में सुभाष के मामले में सीबीआई भी सक्रिय हो गई

नागेश्वर राव के वकील मोहनवेदिवेलन कहते हैंए जब हम सुभाष को खोज रहे थे उसी दौरान अमरीका में रह रहे एक बच्चे अविनाश के बारे में हमें पता चला एक पत्रकार स्कॉट कार्ने के ज़रिए हमने अमरीकी मीडिया में एक कहानी प्रकाशित कराने की कोशिश की और बाद में हमने उनसे कहा कि वो अविनाश के परिजनों से बात करें

असल में चेन्नई से अपहृत बच्चा सुभाष मलेशियन सोशल सर्विस फ़र्म को दे दिया गया था बाद में एक अमरीकी दंपत्ति ने उसे गोद ले लिया और उस बच्चे को नया नाम दिया अविनास

वकील के अनुसारए ष्जब हमने डीएनए टेस्ट के बारे में अमरीकी दंपत्ति से संपर्क किया तो उनकी तरफ़ से कोई ठीक ठीक जवाब नहीं आया

इसके बाद इंटरपोल के ज़रिए बच्चे के ख़ून का नमूना उन्होंने हासिल किया और चेन्नई में उसका टेस्ट हुआ जाँच में उस बच्चे और परिवार के बीच क़रीबी की पुष्टि हुई

नागेश्वर राव कहते हैं  साबित होने के बावजूद कि वो हमारा बच्चा है हमारे अंदर इतनी हिम्मत नहीं थी कि हम गोद लेने वाले परिजनों से झगड़ा कर उसे वापस ले आतेण् उन्होंने उसे बहुत प्यार से पाला पोसा थाण् इसलिए हमने इंतज़ार किया वे ख़ुद ही बच्चे को इस बारे में बताएं और तब वो ख़ुद हमसे मिलने के बारे में फ़ैसला ले सकें,

अविनाश की अमरीकी ज़िंदगी

अविनाश अमरीका में अपने परिजनों के साथ तीन भाईयों और बहनों के साथ रह रहे थेण् 13 साल की उम्र में उन्हें भारत में रह रहे अपने असली मां बाप के बारे में पता चला,

अविनाश बताते हैंए ष्इस तरह की सूचना के लिए ये बहुत नाज़ुक उम्र थीण् मैंने कुछ नहीं कियाण् जो भी सूचनाएं मुझ तक आती थींए उन्हें बस देख रहा था

चार.पाँच साल पहले अविनाशा ने भारत में रह रहे अपने बायोलॉजिकल माता पिता से मिलने का फ़ैसला किया

वो कहते हैं  मैंने अमरीका में अपने परिजनों को बताया तो गोद लेने वाले मेरे माता पिता और भाई बहनों ने मुझे पूरा सहारा दिया

आठ सितम्बर 2019 को नागेश्वर राव का परिवार 20 साल बाद अपने बेटे से मिल रहा था

राव बताते हैंए चेन्नई में जो भी जगह वो देखना चाहता थाए हम उसे लेकर गएण् हमने अपने लिए कुछ और नहीं सोचाण् उसने जो भी खाने की इच्छा जताई हमने उसे मुहैया कराया और जहां जाना चाहा हम लेकर गए

मुलाक़ात से पहले अविनाश अपने परिवार के वकील मोहनवेदिवेलन के सम्पर्क में थे इस मुलाक़ात में परिवार को भाषा के रूप में सबसे बड़ी समस्या का सामना करना पड़ा

अविनाश तमिल नहीं जानते और नागेश्वर राव के परिवार को कोई सदस्य अंग्रेज़ी नहीं जानताण् इसलिए दोनों पक्षों के बीच पुल का काम किया उनके वकील ने

वकील मोहनवेदिवेलन के अनुसारए जब दोनों पक्ष मिलेए तो उन्हें समझ नहीं आया कि कैसे बात करेंण् उनकी मां ने गले लगाया और रोने लगीं उन्हें पता नहीं था कि शब्दों से कैसे बयां करेंण् हालांकि मैं उनके लिए अनुवाद कर रहा थाए लेकिन भावनात्मक पक्ष को शब्दों में नहीं पिरोया जा सकता

लेकिन अविनाश ने पहले ही तमिल सीखने का संपकल्प ले लिया था जब हमने उनसे परिवार के साथ संवाद की मुश्किलों के बारे में पूछा तो उनका कहना था अमरीका पहुंचने के बाद मैंने तमिल सीखने का फैसला किया है भले ही मैं फर्राटे से न बोल पाऊंए मैं निश्चित तौर पर कुछ बुनियादी चीज़ें सीखूंगा ताकि हमारे बीच ट्रांसलेटर की ज़रूरत न पड़े

 

 

 

 

 

 

 


YOU MIGHT ALSO LIKE

गरीबो की मदद के लिए ,बेमेतरा में भी बनी नेकी की दीवार

गरीबो की मदद के लिए ,बेमेतरा में भी बनी नेकी की दीवार

प्रदेश में सभी पात्र हितग्राहियों को राशन कार्ड मिलेगी-वनमंत्री श्री अकबर

प्रदेश में सभी पात्र हितग्राहियों को राशन कार्ड मिलेगी-वनमंत्री श्री अकबर

गुरुकुल स्कूल के खिलाफ एक पिता ने लगाई रिपोर्ट की अर्जी

गुरुकुल स्कूल के खिलाफ एक पिता ने लगाई रिपोर्ट की अर्जी

Recent News

Advertisement

© Copyright YamrajNews 2019. All Rights Reserved.