logo
;
बेमेतरा जिले में  महिलाओं के हाथो में रहेगी बागड़ोर

बेमेतरा जिले में महिलाओं के हाथो में रहेगी बागड़ोर

Published: 18 Sep, 2019

      ·       जिला मुख्यालय सहित तीन नगर पंचायत अनारक्षित महिलाएं,
      ·       एक पिछड़ा वर्ग, 3 नगर पंचायत अ.जा               
      ·       पांच साल के लिये पुरूषो से शहरी की सत्ता आरक्षण ने छिनी
  •    ·       बेमेतरा नपा के लिये रहेगा घमासान 

    रिपोर्टर - विजय कुमार डाहिरे

 बेमेतरा - नगर पालिका की शहरी सत्ता की स्थिति पूरी तरह साफ हो गई और बुधवार को हुए आरक्षण के प्रक्रिया के बाद जिले की एक मात्र नगर पालिका अनारक्षित महिला घोषित की गई । इसी तरह जिले की 7 नगर पंचायतो  का भी आरक्षण के माध्यम से स्पष्ट हो गया। इस तरह 7 नगर पंचायतो में से 3 नगर पंचायत महिला अनारक्षित वहीं 1 पिछड़ा वर्ग महिला तथा 3 नगर पंचायत अ.जा. वर्ग के लिये आरक्षित हुआ है। इससे यह कहा जा सकता है कि बेमेतरा जिले के नगरीय निकाय चुनाव मे पुरूष वर्ग के लिये शहरी सत्ता एक तरह से 5 साल के लिये बंद हो चुकी और जिले में महिलाओं के नेतृत्व में नगरीय निकाय की बागडोर निश्चित रूप से तय हो चुका। बता दे कि बेरला, मारो, नवागढ़ नगर पंचायत अ.जा. वर्ग के लिये वहीं साजा, परपोड़ी,थानखम्हरिया नगर पंचायत अनारक्षित महिला और देवकर पिछड़ा वर्ग महिला के लिये आरक्षित हुआ। आरक्षण के बाद बेमेतरा की एक मात्र नगर पालिका व जिले की चार नगर पंचायत क्षेत्रो में महिलाओं को ही शहरी सत्ता की चाबी मिलना तय हो गया है। आरक्षण की प्रक्रिया के बाद पुरूष राजनेताओं में एक तरह से मायुसी झलकी लेकिन महिला नेत्रियों के चेहरे एक हिसाब से खिले नजर आये क्योकि राजनीतिक दलो की महिलाओं ने आरक्षण की घोषणा होने के बाद अपनी दावेदारी को लेकर भागदौड़ भी शुरू कर दिये।

 कांग्रेस भाजपा की ये नेत्रियां मजबूती से करेगी दावा-

जिले की एक मात्र जिला मुख्यालय बेमेतरा की नगर पालिका परिषद अनारक्षित महिला होने से कांग्रेस भाजपा की महिला नेत्रियों में एक तरह से अध्यक्ष पद की दावेदारी करने के लिये होड़ सी मचेगी। क्योंकि जिला मुख्यालय की राजनीतिक केन्द्र बिन्दु के रूप में नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष से राजनीति में एक अलग पहचान मिलती है। कांग्रेस से जहां सशक्त दावेदार के रूप में पार्षद श्रीमती रीता पांडेय, श्रीमती आराधना पांडेय, श्रीमती रेहाना रवानी, श्रीमती शकुंतला साहू, सहित और भी दावेदार मौजूद है। भाजपा में भी दावेदारी के रूप में नये चेहरो के रूप में कुमारी निशा चैबे और कीर्ति माहेश्वरी, सशक्त रूप से दावेदार हो सकते है। हालांकि भाजपा की वरिष्ठ नेत्री ललिता साहू और छात्र संघ से जुड़ी हुई नीतू कोठारी भी अपनी दावेदारी भाजपा से करेंगी लेकिन युवा मोर्चा और दुर्गा वाहिनी से जुड़ी कुमारी निशा चैबे, सक्रिय होकर अपनी दावेदारी मजबूती से रखेगीं। इसी तरह भाजपा में नये चेहरे के रूप में सामाजिक रूप में उभरने वाली कीर्ति माहेश्वरी के प्रति भी भाजपा संगठन की निगाहे। बहरहाल अभी आरक्षण की प्रक्रिया की ही स्थिति साफ हुई है आने वाले समय मंे दोनो दल मजबूत और नये चेहरे को उतारने में ही भरोसा करेगें।  


YOU MIGHT ALSO LIKE

गुरू नानक देव की जन्मोत्सव पर विश्व भाईचारा यात्रा आगमन नगर में भव्य स्वागत

गुरू नानक देव की जन्मोत्सव पर विश्व भाईचारा यात्रा आगमन नगर में भव्य स्वागत

प्रशासन की मौन सहमति से नगर में अवैध प्लाटिंग का फल फूल रहा है बाज़ार

प्रशासन की मौन सहमति से नगर में अवैध प्लाटिंग का फल फूल रहा है बाज़ार

विश्व आदिवासी दिवस:आदिवासियों के अधिकारों की रक्षा के लिए काम कर रही सरकार: मंत्री उमेश

विश्व आदिवासी दिवस:आदिवासियों के अधिकारों की रक्षा के लिए काम कर रही सरकार: मंत्री उमेश

Recent News

Advertisement

© Copyright YamrajNews 2019. All Rights Reserved.